Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Thursday, 7 September 2017

कानपुर में लिखी गयी विकास की नई इबारत


 कानपूर07-09-2017(चन्दन ठाकुर ) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न धोषणाओ के साथ किया शिलान्यास एवं लोकापर्ण, स्र्माअ सिटी में रोजगार के लिए किया स्किल डेवलपमेंट सेंटर निर्माण की घोषणासमस्या के लिए नही समाधान के लिए होती है सरकार- योगी आदित्यनाथ
कहा राष्ट्रभक्ति को यदि दी गयी चुनौती तो किसी भी रूप में होगा उसका मुकाबला
कानपुर नगर, उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल गुरूवार को कानपुर शहर पधारे। इससे पहले सभी तैयारियां प्रशासन स्तर पर पूरी कर ली गयी थी। मुख्यमंत्री शहर में लगभग चार घण्टे रूके और विकास कार्यो की घोषणा, लोकापर्ण और शिलान्यास किया। उन्होने पं0 दीनदयाल सनातन धर्म विधालय नवाबगंज में हनुमान जी के मंदिर और मोतीझील कार्गिल पार्क में स्वामी विवेकानंद जी की स्मृतिका का लोकापर्ण किया। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चंद्रशेखर आजाद कृषि एंव प्रौधोगिकी विश्वविधालय स्थित हेलीपैड पर उतरे और यहां से पं0 दीनदयाल सनात धर्म विधायल पहुंचे। यहां कार्यक्रम के सम्पन्न होने के उपरान्त वह मोतीझील स्थित कारगिल पार्क पहुंचे, जहां स्मृतिका का लोकापर्ण करने के उपरानत वह सीएसऐ के लिए रवाना हुए। सीएसए के कैलश भवन में उन्होने विभिन्न कार्या की घेषणा, लोकापर्ण और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में स्र्माअ सिटी के कामों की घोषणा के साथ 11.29 अरब रूपये के कार्यो का शिलान्यास व लोकार्पण किया।
         
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सीएसए स्थित हैलीपैड पर उतरे, जहां से वह सर्वप्रथम पं0 दीनदयाल सनातन धर्म विधालय नवाबगंज पहुंचे। यहां कार्यक्रम की शुरूआत वंदे मातरम् गीत से हुई। विधालय में हनुमान जी महाराज के मंदिर का मुख्यमंत्री ने लोकापर्ण किया एवं आयोजित कार्यक्रम के सम्बोधन में उन्होने बच्चों को सनातन धर्म के महत्व को बताया तथा कहा कि आज के समय में भूत-पिशच आतंकवाद और नक्सलवाद है और मुझे लगता है कि जहां हनुमान जी की शक्ति होगी, वहां न उग्रवाद होगा, न नक्सलावाद और न ही आतंकवाद होगा। हम सभी को उस ताकत का एहसास होना चाहिये। साथ ही उन्होने कहा कि देश में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार काम कर रही है। सरकार के तीन वर्ष का कार्यकाल आप सबके सामने है। कहा पूरा देश एक विश्वास के साथ आगे बढता दिखाई दे रहा है। एक केंद्र की नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की सरकार जिसने भारत की मूल पहचान बनाते हुए भारत के अंदर बिना भेदभाव के विकास की योजनाए भी समाज के हर तपके तक पहुंच सकती है यह अहसास कराया है। सरकार समस्या के लिए नही होती, सरकार समाधान के लिए होती है। सरकार समाधान कैसे कर सकती है यह समाज के हर तपके के लोगों के लिए केंद्र सरकार द्वारा घोषित योजनाए इस बात को साबित करती है। राष्ट्रीय स्वाभिमान और राष्ट्रीय सम्मान किस रूप में होता है आप सब ने इसका अहसास देखा होगा, जब डोकलाम में विवाद की स्थिति पैदा हुई, पहली बार हुआ कि भारत की सेना जब वहां अडिग होकर खडी हो गयी तो चीन को पीछे भागने को मजबूर होना पडा। यह राष्ट्रीयता यह है, कहा राष्ट्र भक्ति असंदिग्ध। कहा हमारी राष्ट्रभक्ति को इस मामले में कोई चुनौती नही दे सकता और अगर कोई हमारी राष्ट्रभक्ति को चुनौती देगा तो हम उसका मुकाबला किस रूप में कर सकते है यह अभी डोकलाम के विवाद में भारत की सरकार के द्वारा जिस प्रकार दृढ विस्वास का परिचय दिया गया है यह हम सबके समाने एक उदाहरण है। योगी ने कहा कि सनातन धर्म सर्वोच्च क्यो है, क्योंकि इस इकलौते धम में उपकार के प्रति योगदान सिााया गया है। यदि किसी ने आपके लिए कार्य किया है तो आपका कर्तव्य है कि उसके प्रति योगिदान करे। इसी सनातन धर्म की देन है कि हमारा देश विश्वगुरू था। अब लजजोगो ने शिक्षा दीक्षा सिर्फ अच्दे अंक अच्दी नौकरी और अच्छा पैसा कमाने के लिए कर रहे है यदि वे समाज के प्रति अपना कर्तव्य समझे तो यह देश फिर विश्वगुरू बन जायेगा।। उन्होने यह भी कहा कि पांच महीनों में एक भी दगंा नही होना प्रदेश में कानून व्यवस्था की बेहतर स्थिति को दर्शाता है। कहा हमारी सरकार बिना भेदभाव के लोगों के साथ न्याय करती है। कानून व्यवस्था की स्थिति यूपी में बेहतर है। कार्यक्रम में बैबिनेट मंत्री सुरेक्ष खन्ना, कैबिनेट मत्री सतीश महाना, सत्यदेव पचैरी, सांसद देवेन्द्र सिंह भोले, विधालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष विक्रमजीत सिंह, सचिव योगेन्द्र भार्गव, नीतू सिंह, रेखा पचैरी आदि मौजूद रहे। यहां कार्यक्रम का संचालन डा0 नीरू टंडन ने किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यहां आरएसएस की एक संस्था सक्षम की कार्निया अंधत्वतुक्त भारत अभियान पुस्तक का विमोचन भी किया।

तकनीकि के उपयोग पर दिया बल
कानपुर जैसा महानगर कभी विकास का मानक होता था। आज उस मानक का नये स्वरूप में स्मार्ट सिटी के रूप में हुआ है। कानपुर में अक्सर जाम की समस्या बनी रहती है, इसके लिए हम मेट्रो का निर्माण करने जा रहे है जो हमारी प्राथमिकता है यह बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही। कहा कानपुर में लोगों को जाम की समस्या का सामना नही करना पडेगा। बिजली की कमी राष्ट्रीय स्तर पर नही है। हमें मुफ्त बिजली मिती है तो हम उसे फालतू खर्च करते है। हम शहर में एलईडी लाइन लगायेंगे, जिससे एनर्जी का खर्च आधा हो जायेगा। एलईडी स्ट्रीट लाईट को एक सेंसर के साथ जोडा जायेगा, जिससे वो दिन में जलती लाइट ख्ुाद ब खुद बंद हो जाये। वहीं उन्होेन स्वच्छता को लेकर कहा कि इसके लिए लखनऊ में एक सेमिनार होना चाहिये। हर शहर के नगर आयुकत अपने द्वारा किये गये तीन महत्वपूर्ण कार्यो को बताये, आखिर हम क्यों पीछे है। प्रदेश में नेतृत्व की क्षमता है, जिसका देश में डंका बजाना होगा। कहा नदियों को प्रदूषण मुक्त हमारी प्राथमिकता है मगर कानपुर में कई नाले है जो सीधे गंगा जी में गिरते है। इस पर नगर निगम को सोचना चाहिये। इसके लिए यहां की आईआईटी के साथ मिलकर नयी तकनीकी पर विचार करना होगा।

सिर्फ योजना बनाने से नही होगा कुछ
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज हमारी सरकार ने कानपुर में 850 करोड रूपये के शिलान्यास किया है, लेकिन केवल योजना बनाने से कुछ नही होता है। कहा हमे देखना होगा कि कार्य समय से चल रहा है या नही। अगर कोई सही समय से काम नही कर रहा है, इसके लिए उसको सजा मिलनी चाहिये। लोकतंत्र में जनता मालिक होती है। जनता को भी हर काम पर नजर रखनी चाहिये। कहा अगर सरकार का पैसा लगा है, जांच के नाम पर किसी को परेशान न करे। हम हजारो करोड रूपये हर साल खर्च करते है लेकिन सडके हमें गडढा मुक्त मिलने के बजाय गटढायुक्त ही मिलती है। उन्होने भर्ती में पारदर्शिता को लेकर कहा कि कौशल विकास योजना में 6 लाख युवाओं को जोडा है। किसानों के लिए हमने कई काम किये है। गरीब लोगों के लिए शहर में एक लजाख मकान और गांव में नौ लाख मकान एक साल के अंदर दिया है। कहा कि हमारे शासन में किसी ने गंुडागर्दी की तो हमने उसे रोका। हम किसी के साथ भेदभाव नही करते। यूपी में बाहर के उधोगपतियों को निवेश के लिए कहा है। सैमसंग ने पांच हजार करोड का निवेश किया। बाहरी बिजनेसमैन का भी भरोसा बढा है। हमारी बस एक ही शर्त है, प्रदेश के नौजवान को नौकरी दीजिए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नगर निगम परिसर पहुंचे जहां कारगिल पार्क में बने स्तम्भ पर भारतीय सेना के जवानों के सम्मान में शहीद हुए सैनिकों को पुष्प् अप्रित कर श्रद्धांजली अर्पित की। वहीं उन्होने स्मार्ट सिटी परियोजना सबका साथ सबका विकास योजना के अंतर्गत जोन4 वार्ड 43 नगर निगम परिसर, मोतीझील कारगिलपार्क में नवनिर्मित 2.91 करोड की लागत से बने स्वामी विवेकानन्द जी की स्मृतिका का विधिवत पूजन कर लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होने स्वामी विवेकानन्द की पुस्तिका का विमोचन भी किया। उन्होने पार्क में बने बायोटवायलेट का भी लोकार्पण किया तथा पार्क में पर्यावरण को स्वच्द एवं संतुलित रखने हेतु वृहद वृक्षारोपण करने का संदेश देते हुए परिसर में वृक्ष का रोपण भी किया। इस अवसर पर महापौर जगतवीर सिंह द्रोण, विधायक नीलिमा कटियार, महेश त्रिवेदी, अभिजीत सिंह सागा आदि उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने किया लोकापर्ण व शिलान्यास
सीएसए के कैलाश भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्मार्ट सिटी के कामों की घोषण के साथ 11.29 अरब रूपये के कार्य का शिलान्या व लोकापर्ण किया वहीं जवाहर लाल नेहरू अरबन रिन्यूवल मिशन में 11 वर्ष से चल रहे कई कार्यो का भी लोकापर्ण किया। लोकापर्ण के क्रम में उन्होने कारगिल पार्क मोतीझील में स्वामी विवेकानंद प्रतिमा स्थल व स्मृतिका 2.91, मिल्क डेयरी बडा चैराहा पीपीपी माॅडल से बनी, 210 एमएलडी सीवरेज ट्रीटमेमंट प्लांट गिनगवा-141.96 करोड, गंगा बैराज पर दो-दौ सो एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट-83.92 करोड, 42 एमएलडी सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट सजारी में 44.27 करोड, 13वें वित्त आयोजन से जलपूर्ति व सीवर के काम में 1.16 करोड रू0, 28.50 एमएलडी वाटर वक्र्स गुजैनी 7 करोड, आरटीओ मार्ग में सीवर, सडक व पार्किंग का कार्य 3.43 करोड, ड्रेजर मशीन-1.7 करोड, गोल चैराहा से झकरकटी तक डिवाइडर पर एलईडी लगाने का कार्य 2.89 करोड तथा कारिगिल पार्क में बने बायोट्ायलेट का भी लोकापर्ण किया। इसके साथ ही स्र्माअ कार्ड, स्मार्ट लोगो व स्मार्ट सिटी की वेबसाइट और मोबाइल एप की लाॅचिंग की। इसके साथ ही 34 वार्डो में सीवर लाइन बदलने व सफाई के काम, 14वें वितत आयोग से सडक निर्माण व अन्य कार्य, सीसामऊ नाला सहित पांच नालों को बंद करने का कार्य, अमृत योजना में सात पार्को के सौदर्यीकरण, स्वच्छ भारत मिशन के तहत 97 सामुदायिक शोचलय का निर्माण, 11 क्षेत्रो में सीवर व्यवस्था के कार्य, पेयजल व्यवस्था के कार्य, ई-गवर्नेस के कार्य, वाटर फिल्टर प्लांट, जीरबचैकी से विजय नगर तथा चिडियाघर से गंगा बैराज तथा आरटीओ माॅडल रोड पर एलईडी कार्याे का शिलान्यास किया।
बाॅक्स में-
सपा विधायक इरफान से पुलिस की झडप वहीं अमिताभ बाजपेई ने सडक पर दिया धरना
शहर आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने जा रहे सपा विधायक इरफान सोलंकी की तीखी झडप उस समय हो गयी, जब पुलिस द्वारा उन्हे रोक लिया गया। इसी प्रकार मुख्यमंत्री योगी को ज्ञापन देने घर से निकले विधायक अमिताभ बाजपेई को प्रशासन द्वारा रोक लिया गया, जिसके बाद वह अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गये। सपा से आर्य नगर विधायक अमिताभ बाजपेई मुख्यमंत्री को ज्ञापन देने के लिए जैसे ही घर से निकले तभी गेट पर ही एससीएम, सीओ व उनके साथ मौजूद भारी पुलिस बल ने अमिताभ व उनके समर्थकों को आगे नही बढने दिया। विधायक ने भी ज्ञापन देने की जिद पकडी ली जिससे कुछ समय के लिए माहौल गर्मा गया। विधायक अपने समर्थको के साथ अपने निवास के बाहर सडक पर ही धरने पर बैठ गये और नारेबाजी भी की। पुलिस ने चारो तरफ से विधायक के निवास की नाकेबंदी कर दी।
बाॅक्स में-
राहगीर भी हुए परेशान
मुख्यमंत्री के शहर आगमन पर तथा उनकी फ्लीट गुजरने वाले मार्गो पर चाक-चैबर सुरक्षा की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की गयी। इसको देखते हुए कार्यक्रम स्थल तथा उसके आसपास की सडकों पर यातायात को रोक दिया गया। चिलचिलाती धूप में राहगीरों और वाहन सवारों को खासी परेशानी का सामना करना पडा। मुख्यमंत्री के आने से पहले गुरूदेव पैलेस से नवाबगंज मार्ग पर यातायात रोका गया और जब सीएम की फ्लीट वीएसएसडी काॅलेज को रवाना हुई तो सिविल लाइन, आजाद नगर की ज्यादातर सडकों के यातायात को रोक दिया गया। इसी प्रकार जब सीएम मोतीझील पहुंचने वाले थे तो उससे पहले आर्यनगर, ब्रम्हनगर, रावतपुर, फजलगंज से आने वाले ट्रैफिक को कार्यक्रम स्थल से एक किलोमीटर पहले ही रोक दिया गया।

सपाईयों पर बरसी लाठी
अशोक नगर मोतीझील के पास दर्जनों सपा युवजन सभाके कार्यकर्ताओं ने सीएम योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंकने को पहुंचे। पुतले में आग लग ही पाई थी कि अचानक मोतीझील स्थित तैनात प्रशासन मौके पर जा पहुंचा और उसके बाद जमकर सपा कार्यकर्ताओं पर लाठी भांजनी शुरू कर दी। इस दौरान तीन से चार कार्यकर्ता घायल भी हो गये। यह पुतला दहन सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष प्रवीण सिंह यादव बंटी के नेतृतव में हो रहा था जिसमें दर्जनों कार्यकर्ता अशोक नगर मोतीझील स्थित चैराहे पर सीएम योगी का पुतला फूंकने पहुेचे थे। इस दौरान उन्होने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। वहीं पुलिस ने दर्जनों कार्यकर्ताओं को जेल भेज दिया।

No comments:

Post a Comment