Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Friday, 1 September 2017

एलआईसी ने मनाया अपना स्थापना दिवस


कानपुर नगर, भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा अपनी स्थापना के 61वां वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में एक पत्रकार वार्ता के दौरान उ0प्र0 एवं उत्तराखंड के क्षेत्रीय प्रबंधक एनपी चावला ने एलआईसी की उपलब्धियों और योगदान को विस्तार से प्रस्तुत किया। उन्होने एलआईसी के परिप्रेक्ष्य में उत्तर मध्य खेत्र के नव व्यवसाय एवं ग्राहक सेवा के क्षेत्र  में प्रदर्शन की भी चर्चा की।
            उन्होने बताया कि 1956 में 5 करेाड की आरम्भिंक पूंजी से शुरूआत करने वाली एलआईसी के पास आज 25 लाख करोड से अधिक की परिसम्पत्तियों के साथ 2323802.59 करोड का लाइफ फण्ड है। एलआईसी ने 1956 में 168 कार्यालयों के कार्यालय प्रारम्भ किया था और आज 4897 से अधिक कार्यालय, डेढ लाख कर्मचारी, 11.31 लाख अभिकर्ता 29 करोड से अधिक चालू पाॅलिसियां है। बताया एलआईसी ने व्यवसाय एवं सेवा के क्षेत्र में उतकृष्ट प्रदर्शन के लिए इस वर्ष 23 पुरस्कार प्राप्त यिे है जिनमें से कुछ उल्लेखनीय पुरस्कार गोल्डन पिकाॅक एर्वाउ फाॅर नेशनल ट्रेनिंग 2017, सुपर ब्राण्ड 2016, डन एण्ड ब्राइसीट बीएफएसआई एण्ड पीएसयू एर्वाड, इण्डियन इंश्योरेन्स एवार्ड, दैनिक भाष्कर एवार्ड, ग्रीनटेक एचआर एवार्ड, हिन्दुस्तान एवार्ड 2017, रीडर्स डाइजेस्ट मोस्ट ट्रस्टेड ब्राण्ड एवार्ड है। कार्यक्रम के अंत में चावला जी ने उ0्रप0 एव ंउत्तराखंड के वासियों को उनके द्वारा दिये गये सहयोग और विस्वास की प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त किया तथा कहा कि अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय के तहत एलआईसी 14 देशो में विस्तारित अपनी शाखाओं के माध्यम से व्यवसायिक गतिविधियो संचालित कर रही है। 2016-17 के दोरान अब तक का सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए उत्तर मध्य क्षेत्र के सभी 12 मडलों के कुल प्रीमियम आय के लक्ष्य को प्रापत किया था। भारत का सबसे बडा बीमां प्रदाता होने के नाते एलआईसी ग्राहक सेवा हेतु सूचना प्रौधोगिकी की गुणवत्ता को बढाने में सदैव अग्रणी रहा है।

No comments:

Post a Comment