Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Wednesday, 4 October 2017

शहर को बदनाम करने वाले लोटा धारियों के लिए नगर निगम ने खोला ऑफर का पिटारा


संवाददाता : पूनम शुक्ला

कानपुर , बार-बार चेतावनी के बाद भी खुले में शौच करने से बाज नहीं आने वालों के खिलाफ अब जिला व नगर निगम प्रशासन सख्ती बरतेगा। शहर को शर्मसार व दूसरों के लिए अमर्यादित परिस्थिति पैदा करने वाले ऐसे लोगों के नाम की सूची अब उनके मोहल्ले व चौराहों पर टांगी जाएगी निगम प्रशासन ने एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी पहले ही दे रखी है अब पांच हजार रुपए जुर्माना भी वसूलेगा।  ऐसे क्षेत्र जहां लोगों पर चेतावनी का असर नहीं पड़ रहा है, वहां खाली जगहों को सेल व प्रदर्शनी लगाने के लिए मुफ्त में देने का भी ऑफर अब निगम प्रशासन दे रहा है।
तीन लोगों के खिलाफ थाने पहुंचा मामला
जिन स्थानों पर भी लोगों को खुले में शौच करने से रोका गया ज्यादातर का यही कहना था कि घर में बैठने की अभी आदत नहीं है। आयुक्त ने ऐसे तीन लोगों के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज कराने अधिकारियों से कहा तो फिर वे माफी मांगने लगे। आयुक्त ने कहा कि समझाने के बाद भी नहीं मानने वालों के खिलाफ अब पुलिस कार्रवाई की जाएगी। खासतौर पर जिनके घर में शौचालय बनने के बाद भी उपयोग नहीं करने वालों को बिलकुल नहीं बख्शा जाएगा।
बदनामी से डरो: चौराहों पर टंगेगी सूची
खुले में शौच पर शत प्रतिशत रोक लगाने नगर निगम ने शनिवार से रोको-टोको अभियान की शुरुआत की। 5-5 सदस्यों की 12 टीमें सुबह 5 बजे से ही खुले में शौच वाले शहर के चिन्हित क्षेत्रों में पहुंच गई थी।
जागरुकता : मोहल्ले वालों ने खदेड़ा
सुपेला रेलवे स्टेशन, संजय नगर तालाब, स्लाटर हाउस मैदान, शीतला कॉम्पलेक्स, व्यावसायिक परिसर, आईटीआई के पीछे मैदान , ट्रांसपोर्ट नगर, डबरा पारा, नेवई, नर्सरी, टंकी मरौदा में निगम की टीम सिटी बजाकर सुबह शौच के लिए जा रहे लोगों को रोका। निगम के इस अभियान में मोहल्ले के लोगों ने भी साथ दिया। बहुत सी बस्तियों में लोगों ने खुद होकर ऐसे लोगों को दौड़ाकर खदेड़ा।
लोग जहां शौच करते हैं वहां मुफ्त में दुकानें लगाने की छूट
आयुक्त ने कहा है कि सुपेला, शीतला कॉम्पलेक्स, स्लाटर हाउस, फरीद नगर, आईटीआई के खुले मैदान में जो भी व्यवसायी अस्थाई रुप से प्रदर्शनी या सेल लगाना चाहेगा उसे नगर निगम की शर्तों पर स्थल नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएा। इस अस्थाई सेल व प्रदर्शनी से कोई राशि वसूल नहीं की जाएगी। स्थल साफ स्वच्छ कर उपलब्ध कराया जाएगा। शीतला कॉम्पलेक्स की खाली दुकानों का उपयोग कैंप क्षेत्र के लोग शौच के लिए करते हैं। आयुक्त दुग्गा ने मौके पर रहकर कॉम्पलेक्स की ऐसी 32 दुकानों की सफाई कराई।
कॉम्प्लेक्स की हुई सफाई
25 सफाई कामगारों का दल वहां लगाया गया। दुकानों की  पूरी धुलाई कराने के बाद 3 बोरा ब्लीचिंग और 25 बोरा चूने का छिड़काव किया गया।  वहां पर पुराने सुलभ को हटाकर उचित मूल्य दुकान के निर्माण की स्वीकृति दी।  खुले में शौच मुक्त करना है। लोगों को बहुत समझाइश दे चुके अब और मुरव्वत नहीं कर सकते। सख्ती से कार्रवाई होगी। खासतौर पर जिनके घर शौचालय है और उपयोग नहीं कर रहे हैं। जिनके घर शौचालय अभी अपूर्ण है, वे भी अपने नजदीक के सुलभ का इस्तेमाल करें।

No comments:

Post a Comment