Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Sunday, 12 November 2017

किसी एक के पक्ष में नही बैठ रहा जनता को वोट


              
हर वार्ड में प्रत्याशिर्यो ने कसी कमर, क्षेत्रीय वासियों को रिझाने का काम शुरू 

पार्टीगत व निर्दलीय प्रत्याशी बना रहे विकास को मुददा

कानपुर नगर(विशु रक्सेल) कानपुर नगर निकाय चुनाव में वार्डो में पार्षदी के लिए प्रत्याशियों का जनसंपर्क का काम तेज हो गया है। चाहे पार्षद पार्टी के हो या फिर  निर्दलीय सभी अपने अपने अंदाज और वादों से लोगों को रिझाने का प्रयास कर रहे है। इसी बीच वार्डा में जनता का रूख भी अभी साफ नही हुआ है। न ही अभी वोट पर किसी प्रकार की चर्चा शुरू हुई है। वार्डों में पार्षद पद के प्रत्याशी अब मैदान में उतर चुके है। अपने अपने समर्थकों के साथ लोगो के दरवाजे पहुंच रहे है। हमारे संवाददाता द्वारा हर वार्ड स्तर पर पार्षद प्रत्याशियो की जानकारी ली गयी, जनता के बीच किस प्रत्यार्शी का रूझान है इसे समझा गया, नतीज जो निकला वह जहा हट कर था। कहीं कोई असमंजस की स्थिति में था तो किसी को काम न होने की कसक थी, कोई प्रत्याशियों के वादो को चुनावी राग बता रहा था। जो तस्वीर सामने आयी उससे साफ प्रतीत होता है कि पिछले पार्षदो ने वार्डो के लिए कुछ खास नही किया और जनता भी यह समझ रही है लेकिन वोट भी देना है ऐसे में वोट किसको किया जायेगा वह आने वाला समय ही बतायेगा।हमारे संवाददातो की टीम पहले गुजैनी के वार्ड 55 पहुंची जहां निकाय चुनाव की तस्वीर ही उल्टी नजर आयी। यहां वार्ड की जनता खुश नही दिखी, पिछले पार्षदो के काम को लेकर लोगो ने नाराजगी भी व्यक्त की। लोगों का साफ कहना था कि वोट लेने तक ही प्रत्यार्शी उनके दरवाजे पहुंचते है लेकिन चुनाव जीतने के बाद जनता की समस्या से किसी को सरोकार नही रह जाता है। वार्ड 55 से जहां भारतीय जनता पार्टी के अनिल वर्मा, बहुजन समाज पार्टी से कैलाश पाल, कांग्रेस से रवीन्द्र कुमार रावत व समाजवादी पार्टी से विमलेश यादव पार्षदी का चुनाव लड रहे है तो वहीं शिव सेना से संजय गुप्ता उर्फ बमबम पार्षदी प्रत्याशी है। निर्दलीय में श्याम सिंह यादव के साथ अन्य प्रत्याशी भी मैदान में है। सभी प्रत्याशियों के लिए जब जनता से राय ली गयी तो अधिकाश लोगो ने शिव सेना के संजय गुप्ता का नाम लिया, कारण यह भी है कि यह लोगो के बीच उठते बैठते रहे है और काम आते रहे है वहीं लोगो का रूझान बीजेपी के अनिल वर्मा की ओर भी है। बासपा व कांग्रेस के प्रत्याशियों के पक्ष मे लोगो का रूझान कम रहा। वहीं सपा के विमलेश यादव का नाम भी लोगो की जुबान पर आया। कुल मिलाकर यदि देखा जाये तो वार्ड 55 के निवासियों ने शिवसेना के संजय गुप्ता को तवज्जो दी वहीं भाजपा के प्रत्यार्शी के प्रति भी लोगो ने कहा कि प्रदेश में सरकार भाजपा की है और ऐेस में यदि पार्षद प्रत्याशी भाजपा की जीत होती है तो विकास का काम वार्ड स्तर पर बेहतर होगा। यह कहा जा सकता है कि जनता पार्षदी का चुनाव लेकर स्वयं भ्रम की स्थिति में है लेकिन जब पार्षदों से एक-दूसरे की बाते की गयी तो पार्षद एक-दूसरे प्रत्याशियों की टांग खीचते रहे और अपनी जीत का दंभ भरते आये लेकिन जनता का कहना है कि वह अंतिम निर्णय समय पर लेगे क्यों कि वह यह समझना चाहते है कि कौन पार्षद जीतने के बाद उनके क्षेत्र में काम करेगे क्यों कि चुनाव के पहले ही प्रत्यार्शी क्षेत्र में दिखाई देते है और जीत के बाद वार्ड के लोग उन्हे ढूंढते है। 

No comments:

Post a Comment