Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Sunday, 28 January 2018

समाज में कौशल विकास को बढ़ाने और प्रतिभागियों में छिपी प्रतिभा निखारने का मंच है शुभांजली अवार्ड-2018

समाज में कौशल विकास को बढ़ाने और प्रतिभागियों में छिपी प्रतिभा निखारने का मंच है शुभांजली अवार्ड-2018
- कानपुर के बिरहाना रोड में आईटीज कम्प्यूटर एजूकेशन संस्थान में आयोजित हुआ भव्य कार्यक्रम
- ऑल इंडिया वूमेन डेवलपमेंट एंड ट्रेनिंग सोसाइटी संस्था प्रदेश स्तर पर कर रही है ऐसे ऑडिशन
- समाज में कौशल विकास को बढ़ाना और प्रतिभागियों के अंदर छिपी प्रतिभा निखारने का मंच है शुभांजली वूमेन अवार्ड
- हुनरमंदों में नृत्य, संगीत, वादन और अन्य कला की छिपी हुई प्रतिभा को इस मंच के माध्यम से निखारना संस्था की डायरेक्टर डॉ0 बिंदु जी का मुख्य उद्देश्य

कानपुर महानगर। (सर्वोत्तम तिवारी) पिछले कई वर्षों से समाज में हुनर मन्दों के हौसलों को एक बड़े मंच से उड़ान देने के लिये ऑल इंडिया वूमेन डेवलपमेंट एण्ड ट्रेनिंग सोसाइटी संस्था और उसकी डायरेक्टर वरिष्ठ समाज सेविका डॉ0 बनदेव कुमारी सिंह (बिंदु जी) एवं उनकी सशक्त टीम प्रदेश स्तर पर भिन्न-भिन्न शहरों में कई ऑडिशन आयोजित करती रही हैं। उसी कड़ी में आज कानपुर में बिरहाना रोड पर शुभांजली वूमेन अवार्ड-2018 (सीजन-5) का आयोजन किया गया।आयोजित इस ऑडिशन में प्रतिभागियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।तिवारी स्वीट हाउस के सामने बिरहाना रोड में आईटीज कम्प्यूटर एजूकेशन संस्थान में आयोजित इस प्रतियोगिता में भिन्न-भिन्न शहरों से आये प्रतिभागियों ने भाग लिया। जिसमें सभी हुनर बाजों ने अपने-अपने जज्बे के साथ शानदार प्रदर्शन करते हुये अपने बुलंद सपनों को उड़ान दी।
संस्था की डायरेक्टर कार्यक्रम संयोजिका डॉ0 बिंदु जी ने बताया कि हर ऑडिशन में दूर दूर से प्रतिभावान अभ्यर्थियों की भीड़ उमड़ रही है। जो इस इस प्रोग्राम के प्रतिभागी हैं। उन्होंने कहा कि सभी ऑडिशन्स के प्रतिभागियों का चयन लाजपत भवन मोतीझील में कराया जायेगा।
इस अवसर पर ऑल इंडिया वूमेन डेवलपमेंट सोसाइटी की डायरेक्टर डॉ0 बनदेव कुमारी सिंह (बिंदु जी) आईटीज कम्प्यूटर एजूकेशन संस्थान की प्रिंसिपल दिव्या गुप्ता, काजल अग्रवाल, शहनाज बानों, एकता सिंह, सिल्की जायसवाल, और चयन समिति में निर्मल कपूर, सारिक, आभा निगम, स्नेह अग्निहोत्री, शिवी, अंश, नेहा, विमला और मीनू सहित कई लोग मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment