Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Thursday, 18 January 2018

खोया मंडी में बिल्डर द्वारा बनाई जा रही अवैध बिल्डिंग में आखिर किसका हाँथ

पुराने धर्मशाले को तोड़कर जैन बिल्डर द्वारा बनाये जा रहै अवैध कॉम्पेक्स में आखिर कौन कौन शामिल 


- कानपुर में हालसी रोड जैसे भीड़ भाड़ वाले इलाके में बन रही बहुमंजिला इमारत पर केडीए की चुप्पी

- जमीन के अंदर बिल्डर ने खोद डाली 40 से 45 फिट जमीन, बना रहा डबल स्टोरी बेसमेंट

- ट्रस्ट की जमीन पर बनाया जा रहा काम्प्लेक्स, मानक के विपरीत बन रही इमारत पर केडीए अधिकारियों का हाँथ

- जोन एक के जे0ई0 जनार्दन सिंह ने लिया ठेका, बोले नक्सा पास, जबकि सूत्रों का कहना नक्से में है खेल

कानपुर महानगर।(नीरज शर्मा) केडीए अधिकारियों की मिली भगत से आज पूरे कानपुर में अवैध बहुमंजिला इमारतों का निर्माण धड़ाधड़ जारी है। लेकिन शहर के बीचों बीच एक बिल्डर द्वारा बनाये जा रहे कॉम्लेक्स ने केडीए अधिकारियों पर जबरदस्त सवालिया निशान खड़े कर दिये हैं| ट्रस्टी जमीन पर बन रहे बेसमेंट डबल स्टोरी पर केडीए के जिम्मेदार कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं।कानपुर के खोया बाजार हालसी रोड में एक पुराने धर्मशाले को तोड़कर मानक के विपरीत एक बहुमंजिला कॉम्पेक्स बनाया जा रहा। प्राप्त जानकारी के अनुसार मकान नम्बर 46/78 खोया बाजार हालसी रोड के अनुराग कपूर ट्रस्टी हैं जोकि एक पुराना धर्मशाला था जिसमें कभी गरीब कन्याओं की शादियां हुआ करती थीं। लेकिन नोटों के मोह में डूबे ट्रस्टी अनुराग ने बिल्डर बिनोद जैन को उक्त जमीन बिल्डिंग बनाने को दे दी|दबंग बिल्डर विनोद जैन द्वारा उक्त जमीन को 40 से 45 फिट अंदर खोदकर डबल स्टोरी बेसमेंट तैयार किया जाने लगा। जिसपर भीड़भाड़ वाले इलाके के क्षेत्रीय लोगों ने आपत्ति जतायी और केडीए में शिकायत की लेकिन नीचे से लेकर ऊपर तक इस खेल में शामिल केडीए के जिम्मदारों ने इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया। सूत्र बताते हैं कि बिल्डर द्वारा बनाये जा रहे काम्प्लेक्स में एक एक फ्लोर में कई कई दुकानें बनाई जा रही हैं जिनकी बुकिंग लाखों में चालू है।
धड़ाधड़ चालू इस अवैध कमर्शियल बहुमंजिला काम्प्लेक्स निर्माण के बारे में केडीए वी0सी0 भी बोलने से कतरा रहे हैं। कई बार पूछने पर उनका कहना था कि कार्यवाही करेंगे। लेकिन सोचनें वाली बात ये है कि इन दबंग बिल्डरों पर आखिर किसका हाँथ होता है जोकि ये लोग शहर की बेसकीमती जमीनों पर मानक के विपरीत अवैध निर्माण चालू कर देते हैं।

No comments:

Post a Comment