Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Thursday, 26 April 2018

के0डी0ए0 ने रतनपुर में खाली कराया अवैध कब्जे


कानपुर। कानपुर विकास प्रधिकरण की रतनपुर आवासीय योजना में कुछ लोगों को भवन का आवंटन होने के उपरान्त उन्हें आवंटित भूखण्ड का कब्जा नहीं दिया गया था जिसके कारण आवंटी काफी समय से केडीए के चक्कर लगा रहे थे कुछ आवंटियों ने मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर भी अपनी शिकायत दर्ज करायी थी केडीए उपाध्यक्ष सौम्या अग्रवाल ने जनसुनवाई प्रकरणों का संज्ञान लेते हुए अभियन्त्रण विभाग को जनसुनवाई से संबंधित मामलों को त्वरित निस्तारण के निर्देश दिये थे। जिसके अनुपालन में आज केडीए का प्रर्वतन दस्ता मय पुलिस फोर्स के रतनपुर कालोनी पहुॅचा और भवन संख्या 824/1550 एवं भवन संख्या ई डबलू एस 386/697 को अवैध कब्जेदारों से खाली कराकर भवनों को सील कर दिया। नही खाली हुआ भवन संख्या ई डब्लू एस 31/697 का अवैध कब्जा । संख्या ई डबलू एस 31/697 रतनपुर  जोन दो विजय बहादुर श्रीवास्तव को वर्ष 1989 में आवंटित हुआ था तथ वर्ष 1991 में केडीए द्वारा एग्रीमेन्ट किया गया था लेकिन केडीए ने एग्रीमेंन्ट के बावजूद आवंटी विजय बहादुर श्रीवास्तव को कब्जा नहीं दिया था। आवंटी ने जब कब्जे के संदर्भ में कानपुर विकास प्रधिकरण में संपर्क किया तो आवंटी को ज्ञात हुआ कि प्रधिकरण द्वारा भवन संख्या ई डबलू एस 31/697 को अवैध तरीके से किसी रेखा देवी पाण्डेय के पक्ष में दोहरा आवंटन कर दिया है जिसकी शिकायत आवंटी विजय बहादुर के पुत्र ने कई बार उपाध्यक्ष कानपुर विकास प्रधिकरण से की थी लेकिन कोई समाधान न होने के चलते मूल आवंटी विजय बहादुर के पुत्र ने अपनी शिकायत मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज करायी और 23 अप्रैल को वर्तमान केडीए उपाध्यक्ष सौम्या अग्रवाल के समक्ष उपस्थित होकर शिकायती प्रर्थनापत्र दिया था जिस पर केडीए उपाध्यक्ष ने सम्बंधित अधिकारियों को फाईल सहित तलब करके फाईल का अवलोकन कर शिकायतकर्ता अविनाश श्रीवास्तव को बताया था कि भवन संख्या ई डबलू एस 31/697 को अवैध एवं दोहरी आवंटी रेखा देवी पाण्डेय के कब्जे से खाली कराकर मूल एवं प्रथम आवंटी विजय बहाउुर श्रीवास्तव को कब्जा देने का आदेश हुआ है रतनपुर के अवैध कब्जे रिक्त कराने हेतु 26 अप्रैल की तारीख नियत है उसी दिन भवन संख्या ई डबलू एस 31/697 रतनपुर को अवैध आवंटी रेखादेवी पाण्डेय के कब्जे खाली कराकर मूल आवंटी या उसके पुत्र कासे कब्जा दे किन्तु 26 अप्रैल को अवैध कब्जेदारों से खाली कराये जाने वाले भवनों में भवन संख्या ईडब्लूएस 31/697 दज्र होने के बावजूद प्रधिकरण कर्मियों द्वारा उपरोक्त भवन को रेखा देवी पाण्डेय के कब्जे से रिक्त नहीं कराया प्राधिकरण कर्मियों की कार्यशैली से ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होने केडीए उपाध्यक्ष एवं प्रदेश सरकार की छवि खराब करने की कसम खा रखी है।

No comments:

Post a Comment