Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Tuesday, 5 June 2018

पत्रकारों ने पकौड़ा बेच बीजेपी को चेताया



कानपुर 5 जून - मुख्यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ के कानपुर आगमन पर कवरेज हेतु केवल 41 मीडिया कर्मियों के लिये ही कवरेज पास बनाये जाने को लेकर कानपुर के पत्रकारों में बीजेपी सरकार और जिला सूचना विभाग के प्रति भयंकर आक्रोश व्याप्त है। जिसके चलते पत्रकारों ने पकौड़े बेचकर अपना विरोध प्रकट किया।

जानकारी के अनुसार कानपुर में अाज आयोजित मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की कवरेज हेतु जिला सूचना कार्यालय द्वारा मात्र 41 पत्रकारों को ही अधिकृत किया गया था। जिस पर विरोध जताते हुए ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन (आईरा) के पत्रकारों ने सरकार और जिला सूचना विभाग पर पत्रकारों से भेदभाव करने और बेरोजगार बना देने का आरोप लगाया और "पत्रकार पकौड़ा भंडार" नाम से ठेले लगा कर अपना विरोध प्रकट किया।

आईरा के जिला महासचिव द‍िग्विजय सिंह ने सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुये कहा कि आज मुख्यमंत्री के कानपुर दौरे को लेकर जिला सूचना कार्यालय ने केवल 41 मीडियाकर्मियों के पास बनाये गये। 

मेरा सवाल ये है कि बाकी मीडियाकर्मी कार्यक्रम की कवरेज कैसे करेंगे, और कवरेज नहीं करेंगे तो क्या पकौड़े बेचेंगे ?? पास वितरण में खुलेआम मानकों का उल्लंघन किया गया है - दिग्विजय सिंह (जिला महासचिव - आईरा)। 

दिग्विजय सिंह ने ये भी आरोप लगाया कि चहेते पत्रकारों को पास और बाकी पत्रकारों को बाईपास ये कानपुर जिला सूचना विभाग की पुरानी नीति है। क्या इतने बड़े कानपुर जिले में केवल 41 मीडिया कर्मी हैं ? और बाकी पत्रकार क्या हैं ?  उन्‍होंने कहा कि बीजेपी सरकार कर्मचारियों से काम लेने और उनकी मनमर्ज़ी पर लगाम लगा कर रखने में पूरी तरह नाकाम रही है। ऐसा ही होता रहा तो 2019 के चुनाव में लोकसभा की राह बीजेपी के लिये बेहद मुश्किल होने वाली है।


No comments:

Post a Comment