Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Monday, 12 November 2018

धरती के भगवान ने बचाई महिला की जान



डाo श्वेता खन्ना
कानपु - "धरती के भगवान" शब्द को शहर के दो डाक्टरों डाo श्वेता खन्ना और डाo उमेश दुबे ने तेज बुखार व गुर्दा रोग के कारण जिंदगी और मौत से जूझ रही महिला की जान बचा कर सार्थक कर दिया।बीमार महिला कुसुमलता को तेज बुखार व गुर्दा रोग की शिकायत थी।
डाo उमेश दुबे
   जानकारी के अनुसार कन्नौज निवासी कुसुम लता (32) पत्नी लायक सिंह की डिलवरी होनी थी।बीते दिनो उसे कल्याणपुर स्थित निजी नर्सिंगहोम में भर्ती कराया गया।जहाँ पर आपरेशन के बाद कुसुम ने एक बच्चे को जन्म दिया।लेकिन बच्चा नही बच सका।इसके बाद कुसुम को तेज बुखार व पेशाब न होने की शिकायत पर गोविन्द नगर रीजेंसी हास्पिटल में भर्ती कराया गया।जहाँ पर स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. श्वेता खन्ना व गुर्दा रोग विशेषज्ञ डा. उमेश दूबे ने गहन परिक्षण किया।अल्ट्रासाउंड जाँच के बाद मरीज कुसुम के पेट में खून के थक्के जमे हुये व पानी भरा पाया गया।बच्चेदानी का टाँका भी टूटा मिला। डा. श्वेता ने बताया कि आपरेशन कर मरीज की बच्चेदानी निकली गई।अंदर जमे खून को बड़ी मशक्कत के बाद साफ किया गया।तब जा कर उसकी जान बच सकी।डा. उमेश के मुताबिक मरीज की पेशाब की थैली भी रिपेयर की गई अब वह खतरे से बाहर है।डायलेसिस की आवश्यकता भी नही है।
रिपोर्ट - विकास श्रीवास्तव, कानपुर । 

No comments:

Post a Comment