Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Tuesday, 26 November 2019

वाराणसी में आधी रात थाने का निरीक्षण करने पहुँचे मुख्यमंत्री



मुख्यमंत्री ने काशी विश्वनाथ का दर्शन करने के बाद रात्रि में ही किया थाने का औचक निरीक्षण 

वाराणसी - उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार (26 नवंबर) की रात काशी विश्वनाथ का दर्शन करने के बाद अचानक चौक थाने का निरीक्षण करने पहुंच गए। आधी रात इस तरह सीएम को आते देख वहां तैनात संतरी से लेकर सीएम के साथ मौजूद अधिकारी भी चौंक गए। कुछ देर तक थाने की बिल्डिंग को देखने के बाद सीएम ने मीडिया से भी बात की। इससे पहले शाम करीब साढ़े सात बजे सीएम योगी वाराणसी पहुंचे। पहले आरएसएस और विहिप के नेताओं के साथ बैठक की। उसके बाद विश्वनाथ मंदिर में दर्शन और कॉरिडोर का निरीक्षण किया। रात करीब साढ़े ग्यारह बजे कॉरिडोर से निकलने के बाद सीएम योगी चौक थाने पहुंचे थे।



टॉर्च की रोशनी में सीएम योगी ने देखा काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

काशी पहुंचे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार (26 नवंबर) की रात टॉर्च की रोशनी में काशी विश्वनाथ कारिडोर का निरीक्षण किया। उन्होंने विश्वनाथ मंदिर में दर्शन करने से पहले आरएसएस नेताओं के साथ बैठक भी की। बैठक के बाद योगी काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे और कारिडोर का निरीक्षण किया। आरएसएस औऱ विहिप नेताओं के साथ योगी की राम मंदिर मुद्दे पर अहम बैठक हुई।

संत अतुलानंद कान्वेंट स्कूल में मंगलवार को हुई बैठक मंदिर निर्माण और ट्रस्ट का खाका तैयार करने के मद्देनजर महत्वपूर्ण मानी जा रही है। मुख्यमंत्री सर्किट हाऊस में रात्रि विश्राम करने के बाद बुधवार की सुबह चुनाव प्रचार के लिए रांची रवाना हो जायेंगे । 

मुख्यमंत्री ने बाबा दर्शन के बाद कॉरिडोर की जानकारी ली

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार (26 नवंबर) को रात लगभग 10.55 बजे काशी विश्वनाथ पहुंचे जहाँ ज्ञानवापी पर हर हर महादेव के उद्घोष के साथ उनका स्वागत हुआ। उनकी गाड़ी सीधे मंदिर कंट्रोल रूम के पास रुकी। यहां उतरने के बाद बाबा दरबार पहुंचे। उत्तरी द्वार से बाहर से ही बाबा के दर्शन कर मन्दिर के शिखर को नमन करने के बाद बाहर आने के दो मिनट बाद नीलकण्ठ द्वार से कॉरिडोर में प्रवेश किया। वहां अंधेरा होने के कारण सुरक्षाकर्मियों ने टॉर्च की रोशनी में सीएम को निरीक्षण कराया। उन्होंने निर्मल मठ का भवन देखा और इसके बारे में साथ चल रहे अधिकारियों से पूछा। सीएम को बताया गया की भवन ले लिया गया है। यहां से आगे बढ़े तो गोयनका लाइब्रेरी के पास पहुंचे। इस भवन के बाबत मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई कि इसे नही तोड़ा जायेगा। यह काफी पुराना है। इसे धरोहर मे रखा गया है। यहां लगभग 15 मिनट रुकने के बाद से मुख्यमंत्री कॉरिडोर परिसर से बाहर आ गये ।

रिपोर्ट - दीपक गुप्ता । 

No comments:

Post a Comment