Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Saturday, 13 June 2020

बाल मजदूरों के पुनर्वासन के लिये किया कार्यशाला का आयोजन





कानपुर । बाल मजदूर विरोध दिवस के अवसर पर मुसीबत में फंसे बच्चों की मदद के लिये संचालित चाइल्ड लाइन कानपुर नगर, रोटरी क्लब कानपुर त्रिमूर्ति व बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रन सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में बाल श्रम निषेध दिवस पर बाल मजदूरों की रोकथाम व पुनर्वासन के संबंध में "चाइल्ड लाइन कानपुर एवं सामाजिक संस्थाओं की चुनौतियाँ एवं संभावनायें" पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता रेलवे चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता सहित एक दर्जन से अधिक सामाजिक कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।

बाल श्रम निषेध दिवस पर जारी रिपोर्ट के अनुसार कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को बताया गया कि कानपुर नगर में बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रन सोसायटी विगत वर्ष 2007 से चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से चलाई जा रही है चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा विगत 12 वर्षों में 734 बच्चों को प्रशासन की मदद से बाल मजदूरी बाल शोषण से सुरक्षा व न्याय दिलाया गया है ।

कार्यक्रम के दौरान बताया गया कि चाइल्ड द्वारा इस कार्यशाला का आयोजन करने का उद्देश्य चाइल्ड लाइन के पास बाल मजदूरों की रोकथाम के संबंध में आने वाली चुनौतियों और संभावनाओं पर चर्चा करना था जिससे चाइल्ड लाइन व रेलवे चाइल्ड लाइन के कार्यकर्ता सशक्त होकर कार्य कर सकें और अधिक से अधिक बाल मजदूरों की रोकथाम कर उनका पुनर्वासन किया जा सके । चाइल्ड लाइन के निदेशक कमल कांत तिवारी ने बताया कि कानपुर नगर में पहले 20 से 25000 बाल मजदूर कार्यरत थे लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में परिवारों की आर्थिक स्थिति चरमरा जाने के कारण नगर में 50,000 से अधिक बाल मजदूरों के होने की संभावना है जो कि होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट, कारखाने, मोटर मैकेनिक की दुकानों में कार्यरत होंगे । उन्होंने कहा कि कानपुर नगर की गिनती बाल मजदूरों की संख्या में बाहुल्य जिलों में होती है जिसमें राष्ट्रीय बाल श्रम परियोजना जो कि लगभग 2 वर्षों से बंद है उसको फिर से शुरू करने की अपील की गयी है।

चाइल्ड लाइन कानपुर के समन्वयक प्रतीक धवन ने जनसामान्य से अपील करते हुये कहा कि अगर कोई भी होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट्स, मोटर मैकेनिक, कारखाने दुकानों घर में बाल मजदूरी कराये जाने की कोई सूचना हो तो वह चाइल्डलाइन के निशुल्क नंबर 1098 पर कॉल करके सूचना दे सकते हैं सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जायेगा।

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से चाइल्डलाइन कानपुर के निदेशक कमल कांत तिवारी, समन्वयक प्रतीक धवन, रेलवे चाइल्ड लाइन के समन्वयक गौरव सचान, दीक्षा तिवारी, शिवानी सोनवानी, प्रमोद कुमार श्रीवास्तव, रामानंद पाठक, शांति देवी, चाइल्ड लाइन की काउंसलर मंजुला तिवारी, रेलवे चाइल्ड लाइन की काउंसलर मंजू लता दुबे, उमाशंकर, प्रदीप पाठक, रीता सचान, संगीता सचान, नारायण त्रिपाठी आदि लोग उपस्थित रहे ।

No comments:

Post a comment