Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Wednesday, 21 October 2020

पुलिस ने आलाकत्ल सहित हत्याभियुक्त को किया गिरफ्तार





फतेहगढ़ । पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ डाo अनिल कुमार मिश्र के कुशल निर्देशन में जनपद फर्रुखाबाद में अपराध एंव अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम मे अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप एवं क्षेत्राधिकारी नगर मन्नीलाल गौड के कुशल नेतृत्व मे फर्रुखाबाद कोतवाली पुलिस द्वारा मुoअoसंo 958/20 धारा 302/201/504 IPC में नामित वांछित अभियुक्त पातीराम उर्फ दुर्गेश पुत्र रतीराम निवासी कुम्हारन मोहल्ला थाना कोतवाली फर्रुखाबाद को गिरफ्तार किया है ।

पुलिस ने आरोपी हत्याभियुक्त को हत्या में प्रयुक्त आलाकत्ल के साथ कोतवाली थानाक्षेत्र के लालगेट के पास से सोमवार दिनांक 19 अक्टूबर को रात्रि लगभग 10.30 बजे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया ।

पुलिस की पूछताछ में अभियुक्त पातीराम उर्फ दुर्गेश पुत्र रतीराम द्वारा बताया गया कि एक ही मोहल्ले में रहने वाले सन्दीप कोरी व मृतक महेन्द्र आपस में दोस्त थे ।

मृतक महेन्द्र ने 3000 रुपये संदीप कोरी को उधार दिये थे और महेन्द्र आये दिन अपने उघार के रूपये संदीप कोरी से वापस माँगता था । दिनांक 13 अक्टूबर मंगलवार को शाम 4.00 बजे के करीव महेन्द्र व संदीप कोरी के मध्य रूपयों के लेन देन को लेकर गाली गलौज हुआ था। 
इसी बात को लेकर दिनांक 13 अक्टूबर की रात्रि लगभग 10 बजे सन्दीप कोरी व पातीराम उर्फ दुर्गेश ने मिलकर मृतक महेन्द्र की गर्दन बेल्ट से दबाकर सीने में नुकीली चीज मारकर हत्या कर दी और पास में ही बने सुभाष गुप्ता के बन्द पड़े घर में दरवाजे की कुंडी खोलकर दोनो ने मृतक महेन्द्र की लाश को वहीं रख दिया और गेट बन्द करके अपने अपने घर चले गये ।

आरोपी लोग लाश को ठिकाने लगाने की फिराक में थे परन्तु मौका नहीं मिल पाया इसके बाद दिनांक 15 अक्टूबर बृहस्पतिवार को शाम करीब 8.00 बजे पातीराम उर्फ दुर्गेश और सन्दीप कोरी ने मृतक महेन्द्र के शव को गायव करने के उद्देश्य से मृतक महेन्द्र के शव को पॉलीथिन मे लपेटकर तार से बाँधा और दोनो लोग मृतक के शव को पकड़ कर बाहर सडक के किनारे लाकर रख दिये और पास मे खड़ी वैगनार कार के माध्यम से मृतक महेन्द्र के शव को बाहर ले जाकर गायब करने की फिराक मे थे तभी पुलिस के पहुँच जाने की बजह से दोनो मौके से शव को छोड़कर भाग गये । 

गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि उसने घटना में प्रयुक्त बेल्ट को सुभाष गुप्ता के मकान में जहाँ शव छिपाया गया था उसी के बगल वाले कमरे के कोने में फेंक दिया था । पुलिस ने अभियुक्त की निशान देही पर घटना मे प्रयुक्त बेल्ट को बरामद कर लिया है ।

अभियुक्त को गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली वेद प्रकाश पाण्डेय, उपनिरीक्षक संदीप शर्मा, हेड कांस्टेबल अरविन्द राव, कांस्टेबल संदीप कुमार, कांस्टेबल बबलू शामिल रहे ।

No comments:

Post a comment