Latest News

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Friday, 29 January 2021

किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर बनीं किरन उर्फ कनकेश्वरीनंद गिरी





प्रयागराज । आज आप सबका परिचय कराते हैं एक ऐसी शख़्सियत से जिन्होंने किन्नरों की विपरीत परिस्थितियों में रहकर भी समाज में एक अलग मुक़ाम स्थापित किया इनका नाम है “किरन किन्नर" । किन्नर अखाड़ा से जुड़ने से पूर्व इन्होंने गोरखपुर के पीपी गंज क्षेत्र मे रहकर वर्षों से पीपीगंज और आसपास के क्षेत्र में गरीब और हताश लोगों की बहुत सेवा कीं इतनी ज़्यादा मदद यह लोगों की करती है कि न तो रात को रात समझती न तो दिन को दिन चूँकि यह समाज के बहुत पिछड़े किन्नर समाज से है इसलिये इनके पास संशाधन सीमित मात्रा में होने के बाद भी इन्होंने अपना जीवन समाज के मज़लूम लोगों को समर्पित कर दिया है और अपनी सारी कमाई समाज के लोगों पर खर्च कर देती हैं और संयमित जीवन व्यतीत करती हैं ।

कोरोना काल में जब बड़े बड़े समाज सेवक अपनी जान बचाने के लिए घरों में दुबके थे तब इन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए ज़रूरत मंदो की मदद के लिए सड़कों पर रात दिन मेहनत की,ज़रूरत मंदो की हर संभव मदद की,समाज सेवा के इस सेवा भाव के कार्यों को सुनकर जब मुझे इनसे मिलने का अवसर मिला तो मन बहुत प्रसन्न हो गया कि एैसे भी किन्नर है जो इतने दयालु और अच्छे है इनको तो “किन्नर अखाड़ा “में होना चाहिए और इनकी ज़रूरत सिर्फ़ पीपीगंज ही नहीं वरन प्रदेश के अन्य जगहों को भी है तो मैंने तुरंत वहीं पीपीगंज से अपनी माँ किन्नर अखाड़ा प्रमुख आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी जी महाराज से बात की तो उन्होंने अगले सप्ताह हरिद्वार में होने वाली किन्नर अखाड़ा की बैठक में बुलाया और वहाँ पहुँचने पर किरन जी को बातचीत कर किन्नर अखाड़ा का महामण्डलेश्वर घोषित कर दिया तथा नामकरण संस्कार माघ मेला प्रयागराज में करने की घोषणा की ।

इसी घोषणा के क्रम में माघ मेला 2021 के प्रयागराज के शिविर में इनका किन्नर अखाड़ा के नियमों के अंतर्गत नया नामकरण “कनकेशवरी नंद गिरी" कर दिया गया अब ये इसी नाम से जानी जायेंगीं । शेष बचे कार्यक्रम पट्टाभिशेक आने वाले हरिद्वार कुंभ में करने की घोषणा की गयी है ।

किन्नर अखाड़ा प्रमुख ने इनको आदेश दिया है कि आप मेला उपरांत वापस जाकर समाज के दबे कुचले वर्ग की तन मन और धन से सेवा करें ।

रिपोर्ट - सूर्यान्श श्रीवास्तव । 

सूचना - खबरों एवं विज्ञापन के लिये सम्पर्क करें - मोo- 9140251095
ईमेल- editorsawdhanindia@gmail.com

No comments:

Post a Comment